Dard Shayari आज बादलों ने फिर साज़िश की

आज बादलों ने फिर साज़िश की जहाँ मेरा घर था वहीं बारिश की अगर फलक को जिद है ,बिजलियाँ गिराने की तो हमें भी ज़िद है ,वहि...

Romantic Love Shayari, वो मेरी राहों में गुन-गुना रही थी,

कल इक झलक देखी जिंदगी की, वो मेरी राहों में गुन-गुना रही थी, फिर ढूंढा उसे इधर से उधर, वो आँख मिचोली कर मुस्करा रही थी, एक अरसे...