हर जन्म मुझे हमसफ़र बनाए रखना Hindi Shayari

Rate this post

 

हर जन्म मुझे हमसफ़र बनाए रखना
हर जन्म मुझे हमसफ़र बनाए रखना

थामा है जो तुमने हाथ ये
सफर निबाहे रखना मीठी शरारतें बनाए रखना
जब भी रहू मै उदास तुम मुझे हँसाए रखना

खूबसूरत बँधन को बनाए रखना खो न जाना
दुनिया के भँवर में अपनी सांस मेरी सांस से मिलाए रखना

मिले जो किसी मोड़ पर अँधियारा तुम उसमे उजियारा बनना
मिले जो गम किसी राह पर तुम हर पल खुशियों से भरना

मुझसे ज्यादा मुझको पहचानना कहे बिन दिल की हर बात जानना
भर आये जो मेरी आँख में आँसू तुम इनकी कद्र जानना

हम दोनों की स्वतंत्र पहचान बनाए रखना
हर जन्म मुझे हमसफ़र बनाए रखना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here